. क्या सभी प्रतियोगी परीक्षा में समूह चर्चा होना चाहिए?


क्या सभी प्रतियोगी परीक्षा में समूह चर्चा होना चाहिए?

उत्तर: नहीं, सभी प्रतियोगी परीक्षा में समूह चर्चा नहीं होना चाहिए क्योंकि समूह चर्चा में प्रत्येक वर्ग के उम्मीदवार में आत्मविश्वास नहीं होता जिससे वह उम्मीदवार उस प्रतियोगी परीक्षा को नहीं निकाल पायेगा. समूह चर्चा के लिए उम्मीदवार के अन्दर भरपूर आत्मविश्वास और बेझिझक बात करने की कला होनी चाहिए.


चूँकि कुछ वंचित वर्ग जैसे - आदिवासी, ग्रामीण, गरीब आदि से सम्बंधित कुछ उम्मीदवार समूह चर्चा के लिए परिपक्व नहीं रहते क्योंकि उनको बॉडी लैंग्वेज से सम्बंधित शिक्षा नहीं मिल पाता. इसलिए केंद्र सरकार ने २०१४ में ग्रुप डी के सभी पदों से साक्षात्कार परीक्षा को समाप्त कर दिया है ताकि सभी को नौकरी मिल सके.

पिछला प्रश्न अगला प्रश्न